Author Archives: Anil Saumitra

हिंदी स्‍वाभिमान की भाषा है – प्रो. रजनीश कुमार शुक्‍ल

हिंदी विश्‍वविद्यालय का 23वां स्‍थापना दिवस समारोह वर्धा. हिंदी स्‍वाभिमान, स्‍वावलंबन और स्‍वत्‍व के पहचान की भाषा है। हिंदी भाषा भारत के 99 प्रतिशत से अधिक आबादी की जरूरत है। इस देश के समाज और अंतिम आदमी तक इस भाषा की पहुंच अनिवार्य है।  हम हिंदी हैं, हिंदवी चेतना के ... Read More »

शिक्षा में कला के समावेशन से होगा सर्वांगीण विकास: चैंगसन

विशेष आवश्यकता वाले बच्चों का कला उत्सव में शामिल होना भी उत्सव की सफलता: संयुक्त सचिव, विद्यालयी शिक्षा एवं साक्षरता, लाम्छन्गोइ स्वीटी चैंगसन थोड़ा सा प्रोत्साहन भी कला को निखारने में होता है सहायक: प्रमुख सचिव शिक्षा, मध्य प्रदेश शासन, रश्मि अरुण शमी कला का समावेशन करेगा शिक्षा व्यवस्था में ... Read More »

भोपाल के युवा प्रोफेशनल के कारण जेजेपी चुनाव चिन्ह चाबी बनी हरियाणा के सत्ता की चाबी

दुष्यंत के साथ भोपाल के युवा प्रोफेशनल का हाथ स्पंदन फीचर्स । हरियाणा की जनता ने अपना फैसला दे दिया है। इस विधानसभा चुनाव में एक ऐसी तस्वीर सामने आयी है जो एक दो चैनल को छोड़ के शायद ही किसी चैनल ने अपने सर्वे में दिखाई हो। हरियाणा में ... Read More »

इको ट्रेड ग्रुप : प्रदूषण कम करने के साथ निवेश और रोजगार को बढ़ावा भी दे रहा है

आज के दौर में जब पर्यावरण प्रदूषण और वायु प्रदूषण अपने चरम पर है और यह हमारी पृथ्वी के लिए खतरा बनता जा रहा है ऐसे दौर में उत्प्रेरक कनवर्टर वायु प्रदूषण को कम करने के क्षेत्र में एक वरदान बनकर उभरा है l  उत्प्रेरक कनवर्टर वाहनों में लगाया जाता ... Read More »

हिमालय-हिंद महासागर क्षेत्र के 54 राष्ट्र मिलकर करेंगे नए विश्व का निर्माण

28-29 सितम्बर को आगरा में हुआ 54 देशों का अन्तर्राष्ट्रीय सम्मलेन  आजाद भारत के इतिहास में संभवत यह पहली बार हो रहा है कि गैर सरकारी स्तर पर दुनिया के 54 देशों का एक नेटवर्क बनाने का प्रयास हो रहा हो l दरअसल 28-29 सितम्बर को राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच ... Read More »

हिमालय-हिंद महासागर क्षेत्र के 54 राष्ट्र मिलकर करेंगे नए विश्व का निर्माण

28-29 सितम्बर को आगरा में हुआ 54 देशों का अन्तर्राष्ट्रीय सम्मलेन   आजाद भारत के इतिहास में संभवत यह पहली बार हो रहा है कि गैर सरकारी स्तर पर दुनिया के 54 देशों का एक नेटवर्क बनाने का प्रयास हो रहा हो l दरअसल 28-29 सितम्बर को राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच ... Read More »

भगवा” का कोई दूसरा अर्थ हो ही नहीं सकता

राकेश दुबे पता नहीं क्यों कुछ लोग भारतीय सनातन संस्कृति के प्रतीक रंग “भगवा” को यहाँ-वहां जोड़कर कुछ ऐसी बातें कह रहे हैं जो देश की सनातन संस्कृति के इतिहास से एकदम विपरीत हैं |”भगवा” रंग और ध्वजा सनातन  संस्कृति और धर्म का शाश्वत प्रतीक है। यह सनातन धर्म से ... Read More »

राष्ट्रभाषा विहीन राष्ट्र भारत

राकेश दुबे १९४७ से २०१९, हिंदी का पखवाडा हर साल की तरह अपने अंतिम पायदान पर है | इतने सालों के बाद  आज भी हमारे देश के पास न तो कोई राष्ट्रभाषा है और न कोई भाषा नीति। दर्जनों समृद्ध भाषाओं वाले इस देश में प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा ... Read More »

नई तकनीकों से हल हो सकती है पराली की समस्या

उमाशंकर मिश्र Twitter handle : @usm_1984 धान की फसल तैयार होने के साथ ही खेतों में पराली जलाने के कारण होने वाले प्रदूषण की चिंता भी बढ़ने लगी है। वैज्ञानिकों ने आगाह किया है किया है कि समय रहते इस समस्या से निपटने के उपाय न किए गए तो पर्यावरण, ... Read More »

हाऊडी मोदी और कुछ सवाल

राकेश दुबे कल रात टीवी पर “हाऊडी-मोदी” देखकर बहुत से भारतीय ह्तप्रभ हैं | भारत में ऐसे शो होते ही कहाँ है, चुनाव के दौरान ऐसे शो की झलक भर दिखती है | साढ़े २२  लाख की आबादी वाले ह्यूस्टन में  दुनिया की९० भाषाएं बोली जाती हैं। एक-दूसरे को हैलो ... Read More »