आलेख

आखिर कहां जाएं बेटियां ?

-प्रो. संजय द्विवेदी     अलीगढ़ से भोपाल तक हमारी बेटियों पर दरिंदों की बुरी नजर है। आखिर हमारी बेटियां कहां जाएं जाएं ? इस बेरहम दुनिया में उनका जीना मुश्किल है। “यत्र नार्यस्तु पूज्यंते रमंते तत्र देवता” (जहां नारियों की पूजा होती है देवता वहां निवास करते हैं)का मंत्रजाप  करने वाले देश में ... Read More »

विश्व : जहाँ कमाओ – वही कर पटाओ

राकेश वैश्विक अर्थ व्यवस्था में नये प्रयोग हो रहे हैं । जापान में हुई जी-२० की शिखर बैठक में कुछ फैसले हुए हैं । जी-२०  शिखर बैठक में डिजिटल बहुराष्ट्रीय कंपनियों पर कर लगाने को लेकर बनी आम सहमति से यह आशा बंधी है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था के कामकाज में ... Read More »

कश्मीरी पंडितों से रोहिंग्याओं की तुलना गलत है

राकेश दुबे सोशल मीडिया पर  लेखक जावेद अख्तर का एक टिप्पणी ट्रोल हो रही  है |  इस टिप्पणी की पुष्टि नहीं हुई है, पर इस टिप्पणी का में वर्णित तथ्य अगर कहे गये  हैं, तो वे बेहद घातक हैं | इस टिप्पणी में कश्मीरी पंडितों और रोहिंग्या मुसलमानों की तुलना ... Read More »

वैज्ञानिकों ने उजागर की शीथ ब्लाइट के रोगजनक फफूंद की अनुवांशिक विविधता

उमाशंकर मिश्र Twitter handle : @usm_1984 भारतीय वैज्ञानिकों ने चावल की फसल के एक प्रमुख रोगजनक फफूंद राइजोक्टोनिया सोलानी की आक्रामकता से जुड़ी अनुवांशिक विविधता को उजागर किया है। नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय पादप जीनोम अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक ताजा अध्ययन में कई जीन्स की पहचान ... Read More »

भोपाल विलीनीकरण आन्दोलन 01 जून पर विशेष देवेन्द्र ओगारे आजादी के 659 दिन बाद भोपाल में फहराया तिरंगा झण्डा l विलीनीकरण अन्दोलन में रायसेन के 4 युवाओं ने दी शहादत देश 15 अगस्त 1947 को आजाद हो गया था, लेकिन आजादी मिलने के 659 दिन बाद 01 जून 1949 को ... Read More »

लोकतंत्र की मजबूती के लिए जरूरी है मीडिया की चिंता

अशोक मलिक लोकसभा चुनावों के लिए मतदान शुरु हो चुका है। लोकतंत्र का यह कुंभ आने वाले पांच वर्षों और भविष्य के लिए देश का एजेंडा तय करने का समय है। आज के दौर में मीडिया की भूमिका जिस तेज़ी से बदल और बढ़ रही है मीडिया का स्वरुप उससे ... Read More »

क्यों महत्वपूर्ण है ब्लैक होल की पहली तस्वीर

पीयूष पाण्डेय अंतरराष्ट्रीय खगोल वैज्ञानिकों को पहली बार किसी ब्लैक होल की तस्वीर खींचने में सफलता मिली है। जिस ब्लैक होल की तस्वीर खींची गई है वह कन्या मंदाकिनी समूह की एक मंदाकिनी एम-87 में स्थित है। यह ब्लैक होल पृथ्वी से साढ़े पांच करोड़ प्रकाश वर्ष दूर है और ... Read More »

दुर्भाग्यपूर्ण है धार्मिक कथानकों को चुनावी संग्राम में रेखांकित करना

सहज संवाद / डा. रवीन्द्र अरजरिया चुनावी महासंग्राम में मर्यादाओं को तिलांजलि देने की होड लग गई है। कहीं अपशब्दों का प्रयोग तो कहीं मनमाना आचरण किया जा रहा है। अनेक दलों की षडयंत्रकारी योजनाओं का व्यवहारिकस्वरूप सामने आने लगा है। निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों को दर-किनार करके न केवल ... Read More »

हमारे नागरिक अधिकारों पर संकट

हाल ही में हुए मतदान को लेकर उँगलियाँ उठ रही हैं | मतदान हो या अन्य कोई नागरिक अधिकार उसका संरक्षण होना चाहिए | भारत के संविधान की मूल भावना तो यही है | नागरिक अधिकार व अभिव्यक्ति की आजादी के चलते जालियांवाला बाग नरसंहार हुआ था। इसके मूल में ... Read More »

भाजपा : चिठ्ठी फर्जी हो सकती है उद्गार नहीं

भाजपा के भीतर कुछ नहीं बहुत कुछ गडबड चल रहा है | भीतर ही भीतर जो उबल रहा है, वो अब साफ बाहर दिखने लगा है. अनुशासन के लिये जाने जाने वाली पार्टी में अब वो सब भी होने लगा है जिसकी उम्मीद नही थी | अब फर्जी खतो-किताबत जैसे ... Read More »