India Covid19 Live

Confirmed
Deaths
Recovered

आलेख

सभ्यता और संघर्ष की कहानी है नर्मदा

रमेश शर्मा मध्यप्रदेश की जीवन रेखा मानी जाने वाली नर्मदा गंगा से भी प्राचीन नदी है। भारतीय पुराण परंपरा में विषयों का वर्णन करने की एक शैली है। यह नर्मदा की महत्ता और उसके स्थायी भाव की ही विशेषता है कि नर्मदा का वर्णन न केवल पुराण में है, बल्कि ... Read More »

मध्यप्रदेश के मेले सभ्यता, संस्कृति और लोक-परंपराओं के पुण्य प्रवाह की अभिव्यक्ति हैं

अनिल सौमित्र प्रख्यात विचारक रवीन्द्रनाथ टैगोर और बाद में ओशो ने कहा – उत्सव आमार जाति, आनंद आमार गोत्र। संत का यह वाक्य मनुष्य की प्रकृति और उसके स्वभाव का सूत्रबद्ध विश्लेषण है। भारतीय मनसा के लिए उत्सव उत्सव-महोत्सव और मेले सि;रंत नहीं, बल्कि जीवनचर्या है। इसीलिए वर्षभर के बारहों ... Read More »

सिमट-सिमट जल भरहिं तलाबा

अनुपम मिश्र आज हर बात की तरह पानी का राजनीति भी चल निकली है। पानी तरल है, इसलिए उसकी राजनीति भी जरूरत से ज्यादा बहने लगी है। देश का ऐसा कोई हिस्सा नहीं है, जिसे प्रकृति उसके लायक पानी न देती हो, लेकिन आज दो घरों, दो गांवों, दो शहरों, ... Read More »