फीचर्स

जब -जब सावन आये सखी री

अन्नपूर्णा बाजपेयी ‘अंजू’ जब -जब सावन आये सखी री जब- जब सावन आये सखी री बचपन याद दिलाये सखी री । काले बादल घिर-घिर आये मन मयूर ये नाचे गाये अम्मा के पीछे छिप जाना जब कड़क चंचला डरवाये बाबुल लपक उठाये सखी री जब-जब सावन आये सखी री । ... Read More »

संघ कार्यकर्ताओ की धर्मपत्नियो को समर्पित एक कविता

पिंकेश लता रघुवंशी मेरे मात -पिता के मन में, सखी जाने क्या थी बात समाई देखा उन्होंने मेरे लिए ,जो एक “संघ ” वाला जमाई क्या कहूँ बहन मुझे न जाने क्या -क्या सहन करना होता है ? “इनके’ घर आने -जाने का कोई निश्चित समय न होता है कभी ... Read More »

किसान आंदोलन या कांग्रेसी षड्यंत्र

मदनलाल राठौर मैंने मंदसौर जिले के चार विधानसभा क्षेत्रों मल्हारगढ, मंदसौर, सीतामउ, व गरोठ के ग्रामीण क्षेत्रों में विगत दिनों 50 गांवों में निरन्तर भ्रमण किया है जिनमें वे गांव भी सम्मिलित हैं जिनके निवासी किसान दिवंगत हुए हैं। सभी स्थानों पर किसान इस तथ्य से आक्रोशित हैं कि कांग्रेसी ... Read More »

भारतीय प्लाज्मा अनुसंधान के प्रतीक का चले जाना

नवनीत कुमार गुप्ता @NavneetKumarGu8 नई दिल्‍ली, 21 जून (इंडिया साइंस वायर) : प्रसिद्ध भौतिक-विज्ञानी एवं भारतीय प्लाज्मा अनुसंधान के जनक प्रोफेसर पी.के. कॉव का हाल में निधन होने से देश ने एक प्रतिभाशाली वैज्ञानिक को खो दिया है। प्रोफेसर कॉव देश के उन चुनिंदा वैज्ञानिकों में शुमार किए जाते थे, ... Read More »

आपके बहुत काम के हैं ये आयुर्वेद दोहे : आजमा कर देखिये

दही मथें माखन मिले, केसर संग मिलाय, होठों पर लेपित करें, रंग गुलाबी आय.. बहती यदि जो नाक हो, बहुत बुरा हो हाल, यूकेलिप्टिस तेल लें, सूंघें डाल रुमाल.. अजवाइन को पीसिये , गाढ़ा लेप लगाय, चर्म रोग सब दूर हो, तन कंचन बन जाय.. अजवाइन को पीस लें , ... Read More »

नदियों के बिना हमारे जीवन की कल्पना भी संभव नहीं : अनिल माधव दवे

मनीष वैद्य :  इंडिया वाटर पोर्टल से साभार . पानी और पर्यावरण पर गहरी समझ के साथ नदियों से समाज को जोड़ने और नर्मदा को सदानीरा बनाने की हरसंभव कोशिश में आजीवन जुटे रहे अनिल माधव दवे का प्रोफाइल “नदियाँ हमारे जीवन का अभिन्न हिस्सा हैं। नदियों के बिना जीवन ... Read More »

दवे जैसे हो सार्थक जीवन …

केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अनिल माधव दवे का आज होशंगाबाद जिले में नर्मदा तट (बांद्राभान) में पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। श्री दवे के छोटे भाई श्री अभय दवे ने उनकी पार्थिव देह को मुखाग्नि दी। श्री दवे की इच्छा के ... Read More »

चूना खाने के अनेक फायदे : वैद्य के सलाह से लें

चूना अमृत है  : सुबह को खाली पेट चूना खाओ अकेले चूने से आपकी अनेक विमारियां ठीक होती हैं 40 वर्ष के बाद हमारे शरीर को कैल्शियम की सबसे अधिक जरुरत होती है , बाहर से दूध , केला लेने पर जब वह हजम होगा तब कैल्शियम मिलेगा अगर उनको ... Read More »

नवजात शिशु की देखभाल के लिए पंथ प्रधानों की सलाह

नवजात शिशु की देखभाल और शहर काजी की सलाह : नेक औलाद के लिए अच्छी बीवी तलाशें  शिफाली  इसमें दो राय नहीं कि नौ महीने कोख में अपने बच्चे को रखकर उसे जन्म देने वाली और उसकी परवरिश करने वाली मां की जवाबदारी पिता से कहीं ज्यादा होती है? लेकिन ... Read More »

पानी अमृत है, हम गलत व्यवहार से इसे विष बना देते हैं, जानिये कैसे !

पानी अमृत है या जहर  ? ये जानना बहुत जरुरी है … हम पानी क्यों ना पीये खाना खाने के बाद। क्या कारण है | हमने दाल खाई, हमने सब्जी खाई,  हमने रोटी खाई, हमने दही खाया, लस्सी पी , दूध,दही छाझ लस्सी फल आदि|, ये सब कुछ भोजन के ... Read More »