फीचर्स

कबाड़ से जुगाड़ |

कबाड़ को हम दो पैसे की भी चीज न मानकर उसके बारे में सोचना बंद कर देते हैं. लेकिन पश्चिमी राजस्थान में जोधपुर शहर के कुछ ऐसे युवा व्यवसायी हैं जो रात-दिन कबाड़ के बारे में ही सोचते रहते हैं. तीन साल पहले तक शहर में जिसकी कोई कद्र ही ... Read More »

गाजर के औषधीय उपयोग |

गाजर एक चिरपरिचित सब्जी अनेक व्यंजनों को बनाने में इस्तेमाल की जाती है. गाजर में कई प्रकार के विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस और कैल्शियम के अलावा कैरोटिन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. गाजर के सेवन से शरीर मुलायम और सुंदर बना रहता है. छोटे बच्चों को गाजर का रस पिलाने ... Read More »

मधुमेह को नियंत्रित रखने का पारंपरिक नुस्खा |

गुडमार की पत्तियाँ 30 ग्राम, नीम की पत्तियाँ 30 ग्राम, तुलसी की पत्तियाँ 30 ग्राम, सदाबहार की पत्तियाँ 30 ग्राम, बेल की पत्तियाँ 30 ग्राम, जामुन गिरी 50 ग्राम, वंशलोचन 20 ग्राम, जायफल 10 ग्राम, जावित्री 10 ग्राम, छोटी इलायची 10 ग्राम, कालीमिर्च 30 ग्राम, तेजपत्र 20 ग्राम, करेला बीज ... Read More »

सजा के खौफ का सामाजिक संक्रमण

इंट्रो- 1979-80 में भगलपुर जेल में कैदियों की आंख में तेजाब डाल कर अंधा करने का आंखफोड़वा प्रकरण हुआ। जेल की चाहरदिवारी की यह कू्रर घटना मीडिया माध्यम से समाज तक पहुंची।  देश में किसी महिला पर तेजाब फेंकने का पहला मामला 1982 में आया। तकनीक के युग में मीडिया ... Read More »

आरोग्य सामाजिक क्रांति बनेगा

भोपाल। आने वाले दिनों में आरोग्य का विचार सामाजिक क्रांति का रूप लेगा। लोगों को अच्छी चिकित्सा की बजाए अच्छे स्वास्थ के लिए प्रेरित किया जायेगा। इसी आह्वान और निरोगी व स्वस्थ भारत के संकल्प के साथ आरोग्य भारती का दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का समापन हुआ। 19-20 जुलाई को ... Read More »

कोई हारता नहीं दुनिया में: रत्नेश्वर के. सिंह

भोपाल, 26 जुलाई 2014। आपकी सोच और घटनाओं को देखने का नजरिया आपको सफल बनाता है। आप कल्पना करिए कि आप जीत रहे हैं, सफल हो रहे हैं। तय मानिए आप जीत जाएंगे। दुनिया में कोई भी कभी हारता नहीं है। सिर्फ जीत का प्रतिशत कम या ज्यादा होता है। यह विचार प्रख्यात लेखक ... Read More »

स्पंदन द्वारा काव्य गोष्ठी का आयोजन |

 भोपाल में स्पंदन सामाजिक संस्था के तत्वाधान में वरिष्ठ कवि ,लेखक एवं व्यंगकार राजमणि श्रीवास्तव के सम्मान में शुक्रवार को एक विशिष्ट काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया | जिसमे उन्ही के द्वारा लिखी गयी पुस्तक “ब्रेक के बाद” पर चर्चा हुयी तथा उसके बाद कविता पाठ किया गया | ... Read More »

विष विज्ञान अनुसंधान संस्थान को मिला जीएलपी प्रयोगशाला का गौरव!

  वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुंसधान परिषद (CSIR) की पूरी देश में फैली 36 प्रयोगशालाओं में से भारतीय विष विज्ञान अनुसंधान संस्थान, लखनऊ (Indian Institute of Toxicology Research-IITR) देश की पहली ऐसी प्रयोगशाला बन गयी है, जिसको विश्व स्तरीय गुड लेबोरेटरी प्रैक्टिस (Good laboratory practice-GLP)  प्रयोगशाला का दर्जा प्राप्त हुआ है। यह दर्जा ... Read More »

‘नमामि गंगे’ अतीत, वर्तमान और सरकारी योजनाएं

गंगा की दुर्दशा के लिए गंगा को प्रदूषित करनेवाले जितने जिम्मेदार हैं, उससे कहीं ज्यादा वे लोग भी जिम्मेदार हैं जिनपर गंगा को प्रदूषण मुक्त करने का दायित्व दिया गया था। यदि अधिकारी, मंत्री और कर्मचारी सही तरीके से ईमानदारी से अपना दायित्व पूर्ण करते, तो आज गंगा को प्रदुषण मुक्त बनाया जा ... Read More »

‘विज्ञान : वरदान या अभिशाप’- आज भी प्रश्न है ?

 संगीता पुरी विद्यार्थी जीवन में हमारे पास लेखों के लिए गिनेचुने विषय होते थे , उनमें से एक बडा ही महत्‍वपूर्ण विषय था ‘विज्ञान:वरदान या अभिशाप’। आपने परिवारवालों के वैज्ञानिक दृष्टिकोण का मेरे बाल मस्तिष्‍क पर पूरा प्रभाव था , मैं विज्ञान के वरदान होने के पक्ष में ही ढेर ... Read More »