सफल प्रयोग

संघ कार्यकर्ताओ की धर्मपत्नियो को समर्पित एक कविता

पिंकेश लता रघुवंशी मेरे मात -पिता के मन में, सखी जाने क्या थी बात समाई देखा उन्होंने मेरे लिए ,जो एक “संघ ” वाला जमाई क्या कहूँ बहन मुझे न जाने क्या -क्या सहन करना होता है ? “इनके’ घर आने -जाने का कोई निश्चित समय न होता है कभी ... Read More »

सोयाबीन की नई किस्म से 15 फीसदी बढ़ेगा उत्पादन

फसल न गलेगी, न सूखेगी, बीमारियां भी होंगी कम मध्यप्रदेश : किसानों का पीला सोना सोयाबीन की फसल अब ज्यादा पानी में न गलेगी और न ही कम पानी में सूखेगी।मध्यप्रदेश के  सीहोर जिले के रफी अहमद किदवई एग्रीकल्चर कालेज के वैज्ञानिकों ने इसकी एक नई किस्म इजाद की है। ... Read More »

365 बीमारियों को ठीक करता है ये औषधीय पानी

भोपाल शहर के राजा शुक्ला ने 16 तरह की जड़ी-बूटियों से एक खास किस्म का पानी तैयार किया है। इससे सैकड़ों लोगों को फायदा मिल रहा है। आज की व्यस्ततम दिनचर्या में हम अपनी हेल्थ का ख्याल कम ही रख पाते हैं। भागदौड़ से भरी लाइफ में ज्यादातर लोगों को ... Read More »

कम पानी और जैविक खाद से किसानो ने उगाये पचास हजार आम के पेड़

रतलाम से बामुश्किल चालीस कोस दूर जनजाति बाहुल्य रावटी और बाजना गाँव। 6 साल पहले यहाँ की बंजर जमीन पर घास भी नहीं उगती थी। अब इसी जगह यहाँ आम के लगभग पचास हजार पौधे हैं। यह सम्भव हुआ किसानों की सामूहिक मेहनत से, जिन्होंने पानी को बचाया और जैविक ... Read More »

जल प्रदूषण से निजात दिलाऐगा एसएसएफ

स्लो सेंड फिल्टर गंगा सहित देश की अन्य नदियों को मानव जनित प्रदूषण से बचाने की जरूरत लंबे समय से महसूस की जा रही है। इस दिशा में गुरुकुल कांगड़ी विवि व आईआईटी का एक संयुक्त शोध महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। दोनों शीर्ष संस्थानों के विज्ञानियों ने स्लो सेंड ... Read More »

बंजर पहाड़ी तक पहुँचाया पानी और उगा दिए जंगल

इंसान जहाँ अपने लालच के लिये पानी तक को लूट रहा है और उस पर रहने वाले जंगल, जमीन और जानवरों को भी नहीं छोड़ रहा है, वहीं कई बड़े शहरों और सुदूर गाँवों में ऐसे लोग आज भी हैं जो पानी के जरिए एक सुन्दर संसार को बनाने और ... Read More »

तालाबों से बदल गई किसानों की स्थिति

इंदौर संभाग का सेमलिया गाव आज विकास की कहानी को बयां कर रहा है कुछ समय पहले तक यह गांव पानी की समस्या से जूझ रहा था लेकिन आज यहां पर पानी ही पानी है। मध्यप्रदेश शासन की योजना बलराम ताल के तहत यहां 250 तालाबों का निर्माण किया गया। ... Read More »

टमाटर से बदली किसानों की तकदीर

प्राकृतिक आपदा की लगातार चपेट में आ रही गेहूं-चने जैसी पारंपरिक फसलों के बजाए किसान अब वैकल्पिक फसलों पर ध्यान दे रहे हैं। उनके यह प्रयास अब रंग दिखाने लगे हैं। बाड़ी तहसील के करीब 20 गांवों के सैकडों किसान लाखों रुपए के टमाटर की बंपर पैदावार कर दूसरे किसानों ... Read More »

किसान का बेटा नौकरी छोड़कर अपनाया खेतीबाड़ी

मल्टी नेशनल कंपनी का आफर ठुकरा उगा रहा है फल व सब्जी ग्वालियर जिले के तिघरा ओड़पुरा गांव में दस बीघा बंजर जमीन के मालिक किसान बलराम मोदी का बेटा राजेश मल्टी नेशनल कंपनी में कार्यरत थे। वह एक निजी कंपनी के लाखों रुपए के पैकेज को छोड़कर खेती कर ... Read More »

‘जनभारती’ द्वारा गोमाता केंद्रित खेती का आर्थिक सफल प्रयोग

‘प्रकृति का वरदहस्त प्राप्त महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले में गन्ना और धान प्रमुख फसलें है. देश में हुई हरित क्रांति के लाभ बहुत प्रमाण में इस जिले के गॉंव-गॉंव तक पहुँचे है. नया तंत्रज्ञान, रासायनिक खाद और कीटनाशक तथा उन्नत बिजों का प्रयोग किसानों ने आरंभ किया. उत्पादन बढ़ने से ... Read More »