मीडिया महोत्सव में होंगे दर्जनों विशेषज्ञ और सैकड़ों संचारक

संचारकों का होगा मीडिया और समाज के विशेषज्ञों  साथ संवाद

इस लिंक पर जाकर पंजीयन करें – https://goo.gl/forms/YLOOCvNgTzMe5Rd03

इस वर्ष 31 मार्च-01 अप्रैल को आयोजित बहुप्रतीक्षित मीडिया महोत्सव 2018में उपस्थिति के लिए मीडिया, सुरक्षा और सभ्यता-संस्कृति के नामचीन विशेषज्ञों की उपस्थिति सुनिश्चित होने लगी है l  इन दिग्गजों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक और राष्ट्रीय मुस्लिम मंच, राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच और भारत-तिब्बत सहयोग मंच जैसे संगठनों को दिशा देने वाले इन्द्रेश कुमार, फ़िल्म निर्माता-निर्देशक और कलाधर्मी डा. चंद्रप्रकाश द्विवेदी, वरिष्ठ पत्रकार और लोकसभा अध्यक्षीय शोध पहल के मानद सलाहकार राहुल देव, जनसत्ता के सम्पादक मुकेश भारद्वाज, पांचजन्य और आर्गेनाइजर के समूह सम्पादक जगदीश उपासने, संचार तकनीक और भाषा के विशेषज्ञ बालेन्दु दाधीच, राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के बलदेव भाई शर्मा, सीएसआईआर-निस्केयर के निदेशक डा. मनोज कुमार पटेरिया, मध्यप्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक एस. के राउत और स्वराज पुरी, बरकतुल्ला विश्वविद्यालय भोपाल के कुलपति प्रो. प्रमोद के वर्मा, अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रामदेव भारद्वाज, माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला, राष्ट्रीय एकता समिति के उपाध्यक्ष रमेश शर्मा, मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद् के महानिदेशक डा. नवीनचंद्रा, भोज (मुक्त) विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रविन्द्र कान्हेरे, भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक के. जी. सुरेश, भाजपा के प्रवक्ता प्रेम शुक्ल, चर्च और ईसाई परम्पराओं के अध्येता आर. एल. फ्रांसिस, भारतीय संचार विधा के विद्वान कमल दीक्षित, वरिष्ठ पत्रकार गिरीश उपाध्याय, दीपक तिवारी, प्रकाश हिन्दुस्तानी, हर्षवर्धन त्रिपाठी, अनुराग पुनेठा, अनिल पाण्डेय, स्वदेश सिंह, वेब दुनिया के सम्पादक जयदीप कर्णिक प्रमुख हैं l

मीडिया महोत्सव दो दिवसीय और लगभग 8 सत्रों में संपन्न होगा l इन सत्रों में भारत की सुरक्षा के विविध आयाम और जनसंचार माध्यमों से सम्बंधित विभिन्न मुद्दों – भारत की सुरक्षा : देश, काल, परिस्थिति के परिप्रेक्ष्य में, साइबर एवं डिजिटल युग में व्यक्ति, परिवार एवं समाज की सुरक्षा सुरक्षा, पांथिक एवं साम्प्रदायिक/मजहबी कट्टरता के दौर में सुरक्षा, भारत की सुरक्षा और मीडिया : अंतर्संबंधों की पड़ताल, भारत की सुरक्षा : राजनीति और मीडिया की नजर में, भारत की सुरक्षा : मीडिया, विज्ञान और टेक्नॉलाजी, सभ्यतागत एवं सांस्कृतिक सुरक्षा की चुनौतियां आदि पर गंभीर विमर्श होगा l मीडिया क्षेत्र में रूचि रखने वाले विद्यार्थी, अध्येता, अध्यापक, पत्रकार, साहित्यकार, ब्लॉगर, वेब संचालक, लेखक, मीडिया एक्टिविस्ट, संचारक, मत-निर्माता, रंगकर्मी, कला-धर्मी अपना पंजीयन करें और मीडिया महोत्सव में सहभागी हों इसी में हमारे प्रयासों की सार्थकता है

6 comments

  1. मैं भी रहूंगा.

    • मैं कविता मिश्रा कानपुर की निवासिनि हूँ हौसला है तो हुनर है के तहत गरीब लड़कियों, एवं महिलाओं को हर प्रकार का रोजगार परक हुनर सिखाती हूँ।पिछले 15सालों से मै इस कार्य मे लगी ।और आज एक समाज सेवी के रूप में मेरी पहचान है ।क्रियेटिव कविता का क्रियेटिव हाबी प्वाइंट के नाम से सेटर है कानपुर गांधी ग्राम में।आप के कार्यक्रम मे सहभागी होकर धन्य हूँगी।

  2. उमेश चतुर्वेदी

    मुझे नहीं आना है क्या…मैंने नाम तो डाला था ?

    • भाई जी, आप तो संस्थापक चौपाली हैं. आप मेजबान हैं. आप आमंत्रित नहीं, आमंत्रित करने वाले हैं. कृपया दायित्व का स्मरण करें.

      • मुझे भी आना है, मैं अपनी भूमिका कहां मानूं?

  3. मैं विजय अग्रवाल इटारसी भी इस आयोजन का हिस्सा बनूँगा मैंने अपना पंजीयन करवा लिया है मैंने विगत माह श्री कमल दीक्षित जी के मार्गदर्शन में होशंगाबाद जिला पत्रकार संघ द्वारा आयोजित कार्यशाला में प्रशिक्षण प्राप्त किया था इसके बाद इस महत्वपूर्ण आयोजन के सम्बद्ध में जानकारी मिलने पर पंजीयन करवाया था में इस मीडिया महोत्सव का हिस्सा बनने से बहुत उत्साहित अनुभव कर रहा हूँ. आयोजन के लिए आयोजनको के अग्रिम साधुवाद देना चाहता हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*