एकता परिषद के बैनर तले हुई 60 गाँवों की महापंचायत

हजारों ग्रामीणों ने नशामुक्ति के साथ साथ स्वछता की भी ली शपथ पंचायत में बोले लोग पानी की बर्बादी रोकेंगे,बच्चों को भेजेंगे स्कूल
शिवपुरी
एकता परिषद के बैनर तले जिलेभर में चल रहे नशामुक्ती,बच्चों को शिक्षित करना,जमीन सम्बन्धी समस्याओं का निराकरण करना,शासकीय योजनाओं का सही क्रियान्वयन,जल की बर्बादी को रोकने एव्म स्वछता के अभियान को हर मजरे टोले एव्म गाँव में बड़े पैमाने पर जन सहयोग मिल रहा है और हर रोज इस अभियान से सैकड़ों की तादात में युवाओं की टोलियां जुड़ना शुरू हो गई है जिसका जीता जागता उदहारण आज जिले के अलग अलग क्षेत्रों में हुई आदिवासी पंचायतों में देखने को मिला।
कोलारस बदरवास के अलाबा पिछोर क्षेत्र में आज हुई पंचायतों में पाँच दर्जन से अधिक गाँवों के ग्रामीणों ने सहभागिता ली और नशामुक्ति के साथ साथ बच्चों को प्रतिदिन विद्यालय भेजना शासकीय योजनाओं का सही ढंग से क्रियान्यवयन,जमीन सम्बन्धी समस्याओं का निराकरण,जल की बर्बादी रोकने,स्वछता जैसे महत्वपूर्ण नियमों की शपथ लेते हुए इस का पालन करने की भी बात पंचायत में कही गई।दो अलग अलग क्षेत्रों में आज लगभग 60 गाँवों की महापंचायतें सम्पन्न हुई।यह महापंचायतें एकता परिषद के बरिष्ठ समाजसेवी श्री रामप्रकाश शर्मा के निर्देशन में पूरी हुई।बताया जाता है कि श्री रामप्रकाश शर्मा के निर्देश पर कोलारस बदरवास में पंचायत का नेतृत्व एकता परिषद के पप्पू आदिवासी ने किया जबकि पिछोर क्षेत्र में सम्पन्न हुई पंचायत का नेतृत्व एकता परिषद के ही इमारत आदिवासी ने किया।
आज हुई दोनों महापंचायतों में कोलारस बदरबास से जहां 32 गाँवों के ग्रामीण शामिल हुए वही पिछोर क्षेत्र के 28 गाँवों से आदिवासी समाज के हजारों युवा बुजुर्ग बच्चों के अलाबा महिलाओं ने भी बढ़चढ़ कर भाग लिया। यहाँ उल्लेखनीय है कि रामप्रकाश शर्मा द्बारा एकता परिषद के बैनर तले पिछले कई बर्षो से आदिवासियों को उनका हक दिलाने के लिए लड़ाई लड़ी जा रही है जिसके अब सुखद परिणाम सामने आना शुरू हो गए है।
एसपी कलेक्टर का भी मिल रहा भरपूर सहयोग
जिले में नशामुक्ति अभियान की बात हो या फिर दबंगों के कब्जे से जमीन मुक्त कराने के मामले इन मामलों में जितना गम्भीर एकता परिषद है उससे अधिक गम्भीर पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडेय व कलेक्टर तरुण राठी भी है,एसपी श्री पांडेय के कार्यकाल पर अगर नजर डाली जाए तो वे अभी तक दबंगों के कब्जे से हजारों बीघा जमीन मुक्त करा चुके है वही कलेक्टर श्री राठी भी इन मामलों में पूरी सम्वेदनशीलता बनाये हुए है जिनके द्बारा समय समय पर प्रशासनिक अमले की लगाम कसी जाती रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)