Tag Archives: top

ईद पर बाल विवाह न करने और स्‍तनपान को बढ़ावा देने का संदेश !

नवजात बच्चों के लिए मां का दूध खुदा की सबसे बड़ी नेमत है भोपाल, 15 जून l ईद के मुबारक अवसर पर मुस्लिम धर्म गुरुओं – अखिल भारतीय उलेमा बोर्ड मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष सैयद अनस अली नदवी, गुना शहर काजी नूरुल्ला यूसुफजई, भिंड शहर काजी हाफिज हसमत अली ने ... Read More »

आयुर्वेद के हिसाब से फल-सब्जिओं के गुण-धर्म

– घिया यानि लौकी शीत स्निग्ध है, बलकारक व ज्वरनाशक है. – ककड़ी शीत रुक्ष ग्राही तथा पित्तशामक है और मूत्रल है. – “परवल” गरम, तर है पाचक है, दीपन है, बलकारक है, हल्का है व रुचिकारक है. – तोरी शीत है तर है और कफ-वात कारी है. – “बैंगन” ... Read More »

सैनेटरी पैड के सुरक्षित निपटारे के लिए नया उपकरण

उमाशंकर मिश्र Twitter handle : @usm_1984 नई दिल्ली, 11 जून (इंडिया साइंस वायर) : भारतीय शोधकर्ताओं ने ग्रीनडिस्पो नामक एक ऐसी पर्यावरण हितैषी भट्टी का निर्माण किया है, जो सैनिटरी नैपकिन और इसके जैसे अन्य अपशिष्टों के निपटारे में मददगार हो सकती है।  ग्रीनडिस्पो में 800 डिग्री सेल्सियस से अधिक ... Read More »

पढ़े-लिखे लोग भी एंटीबायोटिक दवाओं के खतरों से बेखबर

डॉ वैशाली लावेकर Twitter handle: @VaishaliLavekar एक ताजा सर्वेक्षण से पता चला है कि न केवल अशिक्षित, बल्कि शिक्षित लोगों को भी एंटीबायोटिक दवाओं के सही उपयोग और एंटीबायोटिक प्रतिरोध के खतरों के बारे में पता नहीं है। पुणे स्थित नेशनल केमिकल लेबोरेटरी के वैज्ञानिकों ने यह सर्वेक्षण किया है, ... Read More »

आम की प्रजातियों के लिए खास डाटाबेस

सारा इकबाल भारत में आम की लगभग 30 व्यावसायिक किस्में प्रचलित हैं, जबकि यहां हजारों विभिन्न प्रकार के आम के पौधों को उगाया जाता है और देशभर में उनका प्रसार किया जाता है। कई बार पारखी लोगों के लिए भी आम की प्रजातियों की पहचान करना कठिन होता है। आम ... Read More »

जैव विविधता को नुकसान पहुंचा रही हैं लघु जल विद्द्युत परियोजनाएं

उमाशंकर मिश्र Twitter handle : @usm_1984 लघु जलविद्युत परियोजनाओं को स्वच्छ ऊर्जा का स्रोत माना जाता है। लेकिन, भारतीय वैज्ञानिकों के एक ताजा अध्ययन से पता चला है कि इन परियोजनाओं के कारण पारिस्थितिक तंत्र और जैव विविधता को लगातार नुकसान हो रहा है। वाइल्ड लाइफ कन्जर्वेशन सोसायटी ऑफ इंडिया ... Read More »

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में शोध की नई पहल

फीचर नवनीत कुमार गुप्ता Twitter handle : @navneetkumargu8 आने वाला समय कृत्रिम बुद्धिमत्ता यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का होगा। एक अनुमान के मुताबिक वर्ष 2030 तक चीन अपनी जीडीपी का करीब 26 प्रतिशत और ब्रिटेन 10 प्रतिशत निवेश कृत्रिम बुद्धिमत्ता संबंधित गतिविधियों और व्यापार पर करेंगे। तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था एवं ... Read More »

प्लास्टिक प्रदूषण के खिलाफ जरूरी है एक मुहिम

44वें विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष फीचर नवनीत कुमार गुप्ता Twitter handle : @navneetkumargu8 (इंडिया साइंस वायर) : पृथ्वी की संरचना, सूर्य से उसकी दूरी और अन्य भौतिक दशाओं के कारण यहां जीवन का अस्तित्व है। हवा, पानी, मिट्टी और विविध वनस्पतियां प्रकृति के ऐसे उपहार हैं, जिनकी वजह से ... Read More »

सदभावना स्कूल-कश्मीर में भारतीय सेना की सराहनीय पहल

जम्मू और कश्मीर राज्य 1947 के समय से ही हिंसा की आग में जल रहा है। हर दिन बढ़ती हिंसा ने यहाँ आम व्यक्तियों का जीवन यापन दुर्लभ कर दिया है। सरकारे बदल गयी पर कश्मीर के हालात नहीं बदले। आय दिन कर्फ़्यू लग जाना पाकिस्तान की तरफ से चाहे ... Read More »

पर्यावरण : अब समय पछताने का नहीं कुछ करने का है

रचना प्रियदर्शिनी पर्यावरण शब्द संस्कृत भाषा के ‘परि’ उपसर्ग (चारों ओर) और ‘आवरण’ से मिलकर बना है. इसका अर्थ है- ऐसी चीजों का समुच्चय, जो किसी व्यक्ति या जीवधारी को चारों ओर से आवृत्त किये हुए हैं. पारिस्थितिकी और भूगोल में यह शब्द अंग्रेजी के environment के पर्याय के रूप ... Read More »