हमें उन 54 भारतीय सैनिकों को पाकिस्तान के क्रूर कब्जे से वापस लाना है

सुशील अत्रे.
पाकिस्तान से समझौता करने की जल्दबाजी में इंदिरा गांधी इतनी अंधी बहरी क्यों हो गयी थीं?
आज एक विंग कमांडर अभिनंदन को बंदी बनाए जाने तथा उनकी रिहाई को लेकर सरकार के खिलाफ राजनीतिक मातम और मीडियाई ताण्डव करने का घृणित पाखंड कर रही कांग्रेस शायद भूल गयी है कि जो 54 युद्धबंदी इंदिरा गांधी की तत्कालीन कांग्रेसी सरकार की घातक शर्मनाक अनदेखी और आपराधिक लापरवाही के कारण आजतक लौटकर अपने घर वापस नहीं आ सके, उनमें भी एक विंग कमांडर हरसरन सिंह गिल तथा 4 स्क्वाड्रन लीडर समेत वायुसेना के 25 पायलट शामिल हैं। उनके परिजन आज 48 साल बाद भी इंदिरा गांधी की उस कांग्रेसी सरकार की प्राणघातक करतूत के पाप की आग में जल रहे हैं।
उल्लेखनीय है कि 1971 के भारत पाक युद्ध में बंदी बनाए गए 93,000 पाकिस्तानी सैनिकों तथा 3800 भारतीय सैनिकों के प्राणों की कीमत चुका कर भारतीय सेना द्वारा कब्ज़ा की गई पाकिस्तानी भूमि को 1972 में बिना शर्त वापस करने की जल्दबाजी में इंदिरा गांधी इतनी अंधी बहरी हो गयी थीं कि उनको भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर हरसरन सिंह गिल, फ्लाइट लेफ्टिनेंट वी. वी. तांबे और फ्लाइंग ऑफिसर सुधीर त्यागी तथा भारतीय सेना के कैप्टन गिरिराज सिंह, कैप्टन कमल बख्शी समेत उन 54 भारतीय युद्धबंदियों की रिहाई की याद नहीं आयी जो पाकिस्तानी जेलों में बंद थे और जिनके बंद होने के पुख्ता प्रमाण सार्वजनिक रूप से उपलब्ध थे।
उल्लेखनीय है कि फ्लाइट लेफ्टिनेंट वी. वी. तांबे का नाम 5 दिसंबर 1971 को पाकिस्तान के ऑब्जर्वर अखबार में फ्लाइट लेफ्टिनेंट तांबे के नाम से प्रकाशित हुआ था। अखबार रिपोर्ट में कहा गया था कि 5 भारतीय पायलट पाकिस्तान के कब्जे में हैं। लेकिन पाकिस्तान ने युद्ध बंदियों की सूची में इनको नहीं दिखाया और इंदिरा गांधी भी उन भारतीय सैनिकों को रिहा कराना भूल गई थीं। उल्लेखनीय है कि फ्लाइट लेफ्टिनेंट वी.वी. तांबे की पत्नी साधारण महिला नहीं है। 1971 में वो अंतरराष्ट्रीय ख्याति की बैडमिंटन खिलाड़ी थीं तथा बैडमिंटन की राष्ट्रीय महिला चैम्पियन थीं। अतः उन्होंने हर उच्च स्तर तक  गुहार लगाई थी लेकिन परिणाम शून्य ही रहा।
इसी तरह युद्ध की समाप्ति के 11 दिन पश्चात 27 दिसम्बर 1971 को भारतीय सेना के मेजर ए.के. घोष का पाकिस्तान की जेल में बंदी अवस्था का चित्र विश्वविख्यात अमेरिकी पत्रिका TIMES ने प्रकाशित किया था। लेकिन 93000 पाकिस्तानियों को रिहा करने का समझौता करते हुए इंदिरा गांधी को मेजर घोष याद नहीं रहे थे।
ज्ञात रहे कि 4 मार्च 1988 को पाकिस्तान की जेल से रिहा होकर भारत आये दलजीत सिंह ने बताया था कि उसने फ्लाइट लेफ्टिनेंट वी.वी. तांबे को लाहौर के पूछताछ केंद्र में फरवरी 1978 में देखा था। 5 जुलाई 1988 को पाकिस्तानी कैद से रिहा होकर भारत वापस लौटे मुख्तार सिंह ने बताया था कि कैप्टन गिरिराज सिंह कोट लखपत जेल में बंद हैं। मुख्तार ने 1983 में मुल्तान जेल में कैप्टन कमल बख्शी को भी देखा था। उस समय उनके मुताबिक बख्शी मुल्तान या बहावलपुर जेल में हो सकते हैं। इसी तरह के कई और चश्मदीद लोगों की रिपोर्ट भी अलग अलग समय पर उन 54 भारतीय युद्धबंदियों के परिजनों के पास लगातार आती रहीं हैं। फ्लाइंग ऑफिसर सुधीर त्यागी का विमान भी 4 दिसंबर 1971 को पेशावर में फायरिंग से गिरा दिया गया था और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। अगले दिन पाकिस्तान रेडियो ने इस बारे में घोषणा की थी तथा पाकिस्तानी अखबारों ने भी इस खबर को छापा था। इसके बावजूद पाकिस्तान लगातार यही कहता रहा है कि ये 54 लोग उसकी जेलों में बंद नहीं हैं, जबकि उनके परिजनों का मानना था कि ये लोग पाकिस्तान की जेलों में कैद हैं। अतः आज पूरा देश कांग्रेस से यह जानना चाहता है कि 1972 में पाकिस्तान से समझौता करने की जल्दबाजी में इंदिरा गांधी इतनी अंधी बहरी क्यों हो गयी थीं?
विशेष: उन 54 युद्धबंदियों की पूरी सूची का लिंक नीचे देखिये। इस कांग्रेसी कुकर्म और करतूत की कहानी से आज हर भारतीय का अवगत होना अत्यन्त आवश्यक है

Indian Army
1. Major SPS Waraich IC-12712 15 Punjab
2. Major Kanwaljit Singh Sandhu IC-14590 15 Punjab
3. 2/Lt Sudhir Mohan Sabharwal SS-23957 87 Lt Regiment
4. Capt Ravinder Kaura SS-20095 39 Med Regiment
5. Capt Giri Raj Singh IC-23283 5 Assam
6. Capt Om Prakash Dalal SS-22536 Grenadiers
7. Maj AK Ghosh IC-18790 15 Rajput
8. Maj AK Suri SS-19807 5 Assam
9. Capt Kalyan Singh Rathod IC-28148 5 Assam
10. Major Jaskiran Singh Malik IC-14457 8 Raj. Rifles
11. Major SC Guleri IC-20230 9 Jat
12. Lt Vijay Kumar Azad IC-58589 1/9 G R
13. Capt Kamal Bakshi IC-19294 5 Sikh
14. 2/ Lt Paras Ram Sharma SS-22490 5/8 G R
15. Capt Vashisht Nath
16. L/Hv. Krishna Lal Sharma 13719585 1 JAK RIF
17. Subedar Assa Singh JC-41339 5 Sikh
18. Subedar Kalidas JC-59 8 JAKLI
19. L/Nk Jagdish Raj 9208735 Mahar Regiment
20. L/Nk Hazoora Singh 682211303
21. Gunner Sujan Singh 1146819 14 Fd Regiment
22. Sepoy Daler Singh 2461830 15 Punjab
23. Gnr Pal Singh 1239603 181 Lt Regiment
24. Sepoy Jagir Singh 2459087 16 Punjab
25. Gnr Madan Mohan 1157419 94 Mountain Regiment
26. Gnr Gyan Chand Gnr Shyam Singh
27. L/Nk Balbir Singh S B S Chauhan
28. Capt DS jamwal 81 Field Regiment
29. Capt Washisht Nath Attock
Indian Air Force
30. Sq Ldr Mohinder Kumar Jain 5327-F(P) 27 Sqn
31. Flt Lt Sudhir Kumar Goswami 8956-F(P) 5 Sqn
32. Flying Officer Sudhir Tyagi 10871-F(P) 27 Sqn
33. Flt Lt Vijay Vasant Tambay 7662 –F(P) 32 Sqn
34. Flt Lt Nagaswami Shanker 9773-F(P) 32 Sqn
35. Flt Lt Ram Metharam Advani 7812-F(P) JBCU
36. Flt Lt Manohar Purohit 10249(N) 5 Sqn
37. Flt Lt Tanmaya Singh Dandoss 8160-F(P) 26 Sqn
38. Wg Cdr Hersern Singh Gill 4657-F(P) 47 Sqn
39. Flt Lt Babul Guha 5105-F(P)
40. Flt Lt Suresh Chander Sandal 8659-F(P) 35 Sqn
41. Sqn. Ldr. Jal Manikshaw Mistry 5006-F(P)
42. Flt Lt Harvinder Singh 9441-F(P) 222 Sqn
43. Sqn Ldr Jatinder Das Kumar 4896-F(P) 3 Sqn
44. Flt Lt LM Sassoon 7419-F(P) JBCU
45. Flt Lt Kushalpal Singh Nanda 7819-F(N) 35 Sqn
46. Flg Offr. Krishan L Malkani 10576-F(P) 27 Sqn
47. Flt Lt Ashok Balwant Dhavale 9030-F(P) 1 Sqn
48. Flt Lt Shrikant C Mahajan 10239-F(P) 5 Sqn
49. Flt Lt Gurdev Singh Rai 9015-F(P) 27 Sqn
50. Flt Lt Ramesh G Kadam 8404-F(P) TACDE
51. Flg Offr. KP Murlidharan 10575-F(P) 20 Sqn
52. Naval Pilot Lt. Cdr Ashok Roy
53. Sqn Ldr Devaprasad Chatterjee
54. Plt Offr Tejinder Singh Sethi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)