Monday , 28 September 2020
समाचार

वयस्क फिल्में दिखाकर नियमों की धज्जी उड़ा रहे टीवी चैनल

Spread the love

नई दिल्ली। विभिन्न चैनलों पर वयस्क, अश्लील या अनुचित सामग्री का प्रसारण करके कार्यक्रम नियमों का उल्लंघन करने पर सरकार ने इस साल 29 मामलों में चेतावनी, कारण बताओ नोटिस सहित अन्य कार्रवाई की है। ‘ए’ प्रमाणपत्र वाली फिल्मों का प्रसारण करने पर नौ कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। दो चैनलों को बीयर की प्रसारण सामग्री परोसने पर चेतावनी दी गई। वैसे सरकार ने कुल 21 मामलों में कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं।
emag347जनवरी में टेलीविजन चैनल ‘एंटर 10’ को ‘ए’ प्रमाण पत्र वाली हिंदी फिल्में ‘मुसाफिर’ और ‘प्लान’ के प्रसारण पर कारण बताओ नोटिस जारी किए गए। अंतरमंत्रालयी समिति ने सिफारिश की कि चैनल का एक दिन के लिए प्रसारण ही बंद हो लेकिन सूचना व प्रसारण मंत्रालय में यह मामला अभी विचाराधीन है। अप्रैल में ‘जिंग’ और ‘मनोरंजन टीवी’ चैनलों को ‘ए’ प्रमाण पत्र वाली फिल्में क्रमश: ‘हवस’ और ‘टापलेस’ दिखाने पर कारण बताओ नोटिस जारी किए गए। मनोरंजन टीवी को केवल वयस्कों वाली फिल्म ‘एक चतुर नार’ के प्रसारण के लिए मई में दूसरा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।
एएक्सएन चैनल को भी ‘डाग्निेस फाल्स’ फिल्म के प्रसारण के लिए इसी तरह का नोटिस जारी किया गया। ‘मूवीज ओके’ को ‘दिल जले’, ‘द गुड गर्ल्स’ ‘ला जोना’ के लिए नोटिस जारी किए गए जबकि महुआ चैनल को ‘औलाद’ और ‘एक और कुरुक्षेत्र’ के लिए नोटिस जारी किए गए। चैनल टीसीएम ने तो सेंसर बोर्ड का प्रमाणपत्र दिखाए बिना ‘ए’ प्रमाणपत्र वाली फिल्म ‘रिच एंड फेमस’ दिखाई थी जिस पर उसे भी नोटिस दिया गया।
अनेक मामलों में चैनलों ने नोटिसों के जवाब दे दिए हैं और मामलों पर विचार किया जा रहा है। राज्यसभा में भाजपा के मुख्तार अब्बास नकवी के सवाल पर सूचना और प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी के जवाब में यह बात सामने आई।

जनसत्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)