Monday , 18 January 2021
समाचार

Tag Archives: top

पंथ-प्रतिनिधियों और विज्ञान-संचारकों की वेब-संगोष्ठी 18 अक्टूबर को

राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद् और स्पंदन संस्था का संयुक्त आयोजन  https://us02web.zoom.us/j/83602311616?pwd=bmZFbjBhOVQvSGoyRUNpa2IvZlUvQT09     पर 18 अक्टूबर दोपहर 3:00 बजे से होगा। भोपाल l विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद और स्पंदन संस्था द्वारा राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है l वेबिनार का विषय – “विविध संस्कृतियों में ... Read More »

इस दुष्काल मे बच्चो के लिए एक नया द्वार

*इस दुष्काल में बच्चो के लिए एक नया द्वार*स्कूल खोलने न खोलने को लेकर बहस जारी है | आने वाले कुछ दिन इस कवायद के नतीजे बतायेंगे | हम बच्चों को स्कूल सीखने के लिए भेजते हैं | वे क्या बड़े-बूढ़े तक, इस दुष्काल में घर में रह कर कुछ ... Read More »

कैंसर को समझने के लिए नैनोमोटर्स का उपयोग कर रहे हैं वैज्ञानिक

नई दिल्ली, 30 सितंबर (इंडिया साइंस वायर): इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से लेकर, कृषि, इंजीनियरिंग और चिकित्सा विज्ञान जैसे विभिन्न क्षेत्रों में नैनो तकनीक अपनी छाप छोड़ रही है। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी), बेंगलूरू के शोधकर्ताओं ने एक अनोखे प्रयास में कोशिकाओं के सूक्ष्म वातावरण के अध्ययन के लिए थ्रीडी ट्यूमर ... Read More »

माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय और यूनिसेफ पब्लिक हेल्‍थ रिपोर्टिंग पर क्रिटिकल स्किल्‍स एप्रेजल प्रोग्राम शुरू करेंगे

भोपाल। हेल्‍थ स्वास्थ्य रिपोर्टिंग को सशक्‍त बनाने के लिए मध्‍य प्रदेश में क्रिटिकल स्किल्‍स एप्रेजल प्रोग्राम संचालित किया जाएगा। क्रिटिकल स्किल्‍स एप्रेजल प्रोग्राम माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता और जनसंचार विश्वविद्यालय और यूनिसेफ संयुक्त रूप से संचालित करेंगे। यह जानकारी पत्रकारिता विश्‍वविद्यालय और यूनिसेफ द्वारा क्रिटिकल स्किल्‍स एप्रेजल पर आयोजित ओरिएंटेशन ... Read More »

स्वास्थ्य और चिकित्सा के स्तर पर जमीन से जुड़कर ही हम इस क्षेत्र में आत्मनिर्भरता हासिल कर सकते हैं: वैद्य राजेश कोटेचा

नई दिल्ली। अपनी समृद्ध परंपरा और चिकित्सा व आहार को अपनाकर हम स्वस्थ रह सकते हैं और कोरोना जैसी महामारी का मुकाबला करने में सफल हो सकते हैं। हमें स्वास्थ्य और चिकित्सा के स्तर पर जमीन से जुड़ना होगा तभी आत्मनिर्भरता भी हासिल कर सकते हैं। ये बातें 2 अक्टूबर ... Read More »

गांवों का शोषण अपने आप में एक संगठित हिंसा है

अभिषेक शर्मा आज जिस प्रकार वैश्विक समाज धनी और वंचितो, शहरी और ग्रामीणों, कुशल और अकुशल के हितों के टकराव के दोराहे पर खड़ा है और सामाजिक, राजनैतिक और आर्थिक समस्याओं का कारण बन रहा है, ऐसे में गांधीवादी दर्शन का एक पक्ष ऐसा भी है जो हमें इन समस्याओं ... Read More »

विश्व के सबसे सफल संचारक थे गांधी : प्रो. शुक्ल

भारतीय जन संचार संस्थान में “गांधी पर्व” का आयोजन *नई दिल्ली, 1 अक्टूबर* । ”संचार के उद्देश्यों की बात की जाए, तो गांधी विश्व के सबसे सफल संचारक थे। अपने इसी गुण के कारण वह देश के अंतिम व्यक्ति तक अपनी बात पहुंचाने में सफल रहे।” यह विचार महात्मा गांधी ... Read More »

अयोध्या : 6 दिसंबर की आँखों देखी

प्रभात झा रामजन्मभूमि आन्दोलन के हुतात्माओं के प्रति शब्दांजलि रुपी श्रद्धांजलि वे  लोग भाग्यशाली होते हैं जो किसी घट रहे इतिहास को अपनी आँखों से देखते हैं l  यह मेरा सौभाग्य था कि मैं पत्रकार के नाते 6 दिसंबर] 1992 को रामलला जन्मभूमि के उस परिसर में  खड़ा था, जहां ... Read More »

अयोध्या श्रीराम लला का मंदिर : पाँच अगस्त, पाँच सौ वर्षों का संघर्ष और साधना

श्रीमती पिंकेश लता रघुवंशी पथ निहारते नयन…. श्री राम जन्मभूमि पूजन अपि स्वर्णमयी लङ्का न मे लक्ष्मण रोचते । जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी ॥  (वाल्मीकि रामायण) लंका विजयोपरांत लंका के वैभव और बनावट देख वहीं रहने के लक्ष्मण जी के आग्रह पर भगवान राम यही उत्तर तो देते हैं ” ... Read More »

सच मुच काेेरोना की वैक्‍सीन या धोखा …

जैसे-जैसे नए-नए तथ्य सामने आ रहे हैं, वैसे-वैसे साफ़ होता जा रहा है कि कोरोना का पूरा मसला असल में असलियत कम फ़साना ज़्यादा है। जिस अमेरिका में सबसे ज़्यादा हाहाकार वाली स्थिति दिख रही है, उस अमेरिका की ही चौथाई से ज़्यादा आबादी यानी आठ-नौ करोड़ लोग अब कहने ... Read More »